WhatsApp आपके ‘कानूनी नाम’ का इस्तेमाल करना चाहता है: आपके लिए इसका क्या मतलब है



Whatsapp Fee System: भारत में व्हाट्सऐप पेमेंट यूजर्स के लिए एक जरूरी अपडेट है. इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप ने उन यूजर्स के “लीगल” नामों की पहचान करना शुरू कर दिया है जिन्होंने अपने ऐप पर यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) आधारित पेमेंट सर्विस को इनेबल किया है. ये वे नाम हैं जो यूजर्स के बैंक अकाउंट में हैं और इसलिए उनके प्रोफाइल नामों से अलग हो सकते हैं. “जब आप व्हाट्सऐप पर पेमेंट का उपयोग करते हैं, तो अन्य यूपीआई यूजर्स आपका कानूनी नाम देख पाएंगे. आपके बैंक अकाउंट पर यह वही नाम है,” व्हाट्सऐप अपने एफएक्यू पेज पर कहता है. ये नाम उस व्यक्ति को भी दिखाए जाएंगे, जिसे यूजर्स पैसे ट्रांसफर करता है या भुगतान करता है. व्हाट्सऐप ने यूजर्स को इस संबंध में अपने ऐप में व्हाट्सऐप पेमेंट नोटिफिकेशन दिखाना शुरू कर दिया है. नोटिफिकेशन में व्हाट्सऐप एफएक्यू पेज लिंक है जिसमें लीगल नेम की जरूरत की डिटेल दी गई हैं.

What’s behind this requirement
व्हाट्सऐप का दावा है कि कानूनी नाम की आवश्यकता नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के दिशानिर्देशों के अनुसार है. इसका उद्देश्य यूपीआई पेमेंट सिस्टम में धोखाधड़ी को कम करना है.

How will WhatsApp know customers ‘authorized identify’
व्हाट्सऐप का कहना है कि वह यूजर्स के व्हाट्सऐप अकाउंट से जुड़े फोन नंबर का इस्तेमाल उनके बैंक अकाउंट नंबर की पहचान करने के लिए करती है. बैंक अकाउंट से जुड़ा नाम वह नाम है जिसे शेयर किया जाएगा. “जब आप व्हाट्सऐप पर पेमेंट का उपयोग करते हैं, तो अन्य यूपीआई यूजर आपका कानूनी नाम देख पाएंगे. आपके बैंक अकाउंट पर यह वही नाम है,”

व्हाट्सऐप यूजर्स को अपने प्रोफाइल नाम के रूप में ऐप पर 25 अक्षर तक के किसी भी नाम को चुनने की सुविधा देता है. यूजर्स अपने प्रोफ़ाइल नाम में इमोजी भी जोड़ सकते हैं. हालाँकि, नई जरूरत इसकी पेमेंट सर्विस के यूजर्स के लिए व्हाट्सऐप पेमेंट सिस्टम के लिए साइन अप करते समय अपने बैंक अकाउंट के अनुसार अपना नाम शेयर करना जरूरी बनाती है.

यह भी पढ़ें: Google Pixel 6a: UK कनाडा और फ्रांस समेत इन देशों में गूगल पिक्सल 6a की कीमत जारी

यह भी पढ़ें: WhatsApp Chats: व्हाट्सऐप चैट से हो गए हैं परेशान, ये रहा आपकी समस्या का समाधान



Supply hyperlink